Share With Your Friends

The Thirsty Crow Pyasa Kauwa Ki Kahani in Hindi

The Thirsty Crow Story in Hindi – गर्मियों का मौसम था, सूरज की तपिश और भिसन गर्मी की वजह से सभी जीव एवं प्राणी परेशान हो गए। पानी की कमी की वजह से कई तरह की परेशानिअ उठानी पड़ रही थी, इंसानों के साथ साथ जानवर और पंक्षियों पर भी बुरा प्रभाव पड़ रहा था। तो वही एक कौआ भी इस भीषण गर्मी और पानी की कमी से पीड़ित था, कौआ काफी समय से प्यासा था और पानी की खोज में दर बदर भटक रहा था।

वह जंगल से निकला और पानी की तलाश में गांव तक आ गया गांव में एक छोटे से झोपड़ी के बाहर एक मटका देख कर वो रुक जाता है मटके के अंडर थोड़ा सा पानी था जो कौए की प्यास बुझा सकता था। पर परेशानी यह थी के कौए का चोच उस मटके के पानी तक नहीं पहुँच रहा था।

The Thirsty Crow Story in Hindi
pyasa kauwa ki kahani in hindi with pictures

Pyasa Kauwa Ki Kahani in Hindi

दिमाग से चंचल कौए ने पास में पड़े कंकर को देखा और सोचा की अगर में इस कंकर को मटके के अंदर डाल दू तो पानी ऊपर आ सकता है, फिर वह उस कंकड़ को एक एक कर के उठा के अपने चोंच से मटके के अंडर डालने लगता है। धीरे धीरे मटका कंकरो से भर जाता है और पानी इतनी ऊंचाई तक आ जाता है के वह वो पानी आराम से पी सके।

पानी पीने के बाद कौए के ख़ुशी का ठिकाना नहीं था और वह कहने लगा भयी वह मेरी मेहनत रंग लायी।

The Thirsty Crow Story in Hindi With Moral

तो दोस्तों इस इस कहानी का से हमें यही सीख मिलती है के अपनी बुद्धि का सही इस्तेमाल करके हम किसी भी संकट से बाहर आ सकते है, जैसा कि आपने हमारे इस कहानी The Thirsty Crow Story in Hindi में पढ़ा, के किस प्रकार से एक प्यासा कौए ने अपनी बुद्धि का इस्तेमाल कर के अपनी प्यास बुझाई।

“पानी के बिना है जीवन अधूरा, पानी करे सबके जीवन को पूरा, पानी का पहचानो मोल, बूँद बूँद है इसकी अनमोल”

इस कहानी The Thirsty Crow Story in Hindi से आप एक और शिक्षा भी ले सकते है कि जल ही जीवन है, बिन पानी सब सून, आज के युग में हम जिस तरह से अपने प्राकृतिक संसाधनों को व्यर्थ कर रहे है यह दुर्भाग्यपूर्ण है, हमें अपने लिए और आने वाली पीढ़ियों के लिए जल को बचाना चाहिए।

आपने प्यासे कौए की कहानी में क्या क्या पढ़ा

आपने हमारे इस कहानी में सम्पूर्ण भाग पढ़ा जो  के आधारित है इस thirsty crow story in hindi writing, thirsty crow story in hindi written, thirsty crow story in hindi writing short, thirsty crow story in hindi download, the thirsty crow story in hindi with moral, the story of thirsty crow in hindi, pyasa kauwa ki kahani in hindi with pictures. तो आशा करते है आपको हमारी ये कहानी जरुर और जरूर पसंद आई होगी, हमारे इस स्टोरी को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे।

कृपया यह कहानी भी पढ़े → Elephant and Tailor Story in Hindi


Pyasa Kauwa Ki Kahani English Mein

It was the summer season, due to the heat of the sun and the heat, all the creatures and animals were disturbed due to the heat.Due to lack of water, many kinds of problems were being raised, humans as well as animals and birds were also affected. That same crow was also suffering from this scorching heat and lack of water. The crow was thirsty for a long time and was wandering in search of water.

He came out of the forest and came to the village in search of water. He stops by seeing a matka outside a small hut in the village. There was some water under the pot which could quench the thirst of the crow. But the problem was that Kava’s brains were not reaching the pot water.

The mind-boggling crow saw the kankar lying nearby and thought that if I put this kankar inside the pot, water could come up. Then he picks up the pebble one by one and starts pouring the pot under his beak. Slowly the pot is filled with bowls. The water comes to such a height that it can drink it comfortably by the crow.

After drinking the water, the crow was very happy and he started saying that My hard work paid off.

The Thirsty Crow Story Moral

So friends, from this story, we learn that by using our intelligence properly, we can come out of any crisis, as you read in our story The Thirsty Crow Story in Hindi, how a thirsty The crow used his intelligence to quench his thirst.

Life is incomplete without water, water makes everyone’s life complete, buy water, drops are drops, it’s priceless”

You can also learn another lesson from this The Thirsty Crow Story that water is life, without water, it is unfortunate that the way we are wasting our natural resources in today’s era, it is unfortunate for us and for generations to come Water should be saved.


Share With Your Friends
Leave a Comment

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *